हिंदी में लव शायरी | Latest Hindi Love Shayari | हिंदी शायरी |

Hindi sahayri, love shayari, joks shayari, boyfriends shayari, girl friends shayari,

हिंदी में लव शायरी | Latest Hindi Love Shayari | हिंदी शायरी |

हिंदी में लव शायरी | Latest Hindi Love Shayari | हिंदी शायरी |

नजर से क्यूँ जलाते हो आग चाहत की,
जलाकर क्यूँ बुझाते हो आग चाहत की,
सर्द रातों में भी तपन का एहसास रहे,
हवा देकर बढ़ाते हो आग चाहत की।
उसके लिये तो मैंने यहाँ तक दुआएं की है,
कि कोई उसे चाहे भी तो बस मेरी तरह चाहे।
क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है,
एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है,
लगने लगते है अपने भी पराए,
जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है।
हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं,
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं।
तेरे रंग में ऐसे रंगीन हो गए हैं हम,
कि तेरे बिना जिंदगी के रंग फीके लगेंगे।
अगर आप अजनबी थे तो लगे क्यों नहीं,
और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं।
तपती दोपहरी, गरम रेत पर…
ठंडे पानी की बूँदों जैसा काम कर गई…
तेरी आवाज़ जो कल सुनी मैंने…। 
नजरों को तेरे प्यार से इंकार नहीं है,
अब मुझे किसी और का इंतज़ार नहीं है,
खामोश अगर हूँ मैं तो ये वजूद है मेरा
तुम ये न समझना कि तुमसे प्यार नहीं है।
आसमान पे चाँद जल रहा होगा,
किसी का दिल मचल रहा होगा,
उफ़ ये मेरे पैरों में चुभन कैसी है,
जरूर वो काँटों पर चल रहा होगा।
माना कि तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *