प्यार में बफा होती तो नमक जख्मो की दावा होती New Best Sad Love शायारी | हिन्दी शायारी |

क्या आपने कभी प्यार है | अगर अपने प्यार किया है तो आप प्यार से बाकिफ ही होगे | प्यार करने का सिल सिला आज से नहीं बल्कि जन्मो से चला अ रहा है | कोई लोग इसे बेकार मानते है और कोई इसे कुदरत की देन मानते है | अब हम क्या करे और किसकी माने, कहते है जब प्यार होता है किसी को तो बो बताकर नहीं आता है की “अब में अ रहा हु “ आज हम एसे ही टॉपिक पर बात करेंगे और कुछ आपके लिए शायारी भी पेश करेंगे |

प्यार में बफा होती तो नमक जख्मो की दावा होती New Best Sad Love शायारी | हिन्दी शायारी |

कई लोग कहते है की प्यार कभी भी नहीं करना चाहिए क्योंकि अभी तक जिन्होंने प्यार किया उन्हें धोका ही मिला है | लेकिन एसा नहीं है दोस्तों कभी भी हम्हे प्यार को गलत कहना सही नहीं है | जरा सोचिये अगर प्यार में सभी को धोका मिलता तो आज के टाइम जो सात अजूबो में सामिल ताजमहल नहीं होता, लैला और मजनू अपनी जन नहीं ग्बाते |

दोस्तों अगर आपको प्यार में धोका मिला है तो उसके ज़िम्मेदार आप भी हो सकते है | सोचो क्या आप से गलती नहीं हो सकती है क्या, सोचो आपसे गलती कहा हुयी है |और हो भी सकता है की गलती भी हो और नहीं भी | कई बार एसा भी हो सकता है की आपकी गलती नहीं हो और आपके लवर की हो तो दोस्तों प्यार में कही भी प्यार की गलती नहीं होती है |

प्यार में बफा होती तो नमक जख्मो की दावा होती New Best Sad Love शायारी | हिन्दी शायारी |

आज में आपको ज्यादा बोर नहीं करूँगा बल्कि आज में आपके लिए अच्छी अच्छी sad love शायारी आपको पड़ने के लिए देने बाला हु अगर पसंद ए तो आप अपने दोस्तों के साथ करे और social मीडिया पर भी पोस्ट करे | अगर ज्यादा ही पस्संद आये तो निचे कमेंट करे |

दर्द हैं दिल में पर इसका ऐहसास नहीं होता, रोता हैं दिल जब वो पास नहीं होता,
बरबाद हो गए हम उनकी मोहब्बत में,
और वो कहते हैं कि इस तरह प्यार नहीं होता!

तुम लाख दुआ कर लो मुझसे दूर जाने की ..

मेरी दुआ भी उसी खुदा से है तुझे मेरे करीब लाने की
मुस्कुराने की अब वजह याद नहीं रहती, पाला है बड़े नाज़ से… मेरे गमों ने मुझे !

अब मेरा हाल चाल नहीं पूछते हो तो क्या हुआ, कल एक एक से पूछोगे की उसे हुआ क्या था. 

वो उम्र भर कहते रहे तुम्हारे सीने में दिल ही नहीं..❤ दिल का दौरा क्या पड़ा, ये दाग भी धुल गया. 

मरने के नाम से जो रखते थे मुँह पे उँगलियाँ ….. अफ़सोस वही लोग मेरे दिल के क़ातिल निकले… 

अभी ज़रा वक़्त है, उसको मुझे आज़माने दो. वो रो रोकर पुकारेगी मुझे, बस मेरा वक़्त तो आने दो। 

तकलीफ ये नही की किस्मत ने मुझे धोखा दिया, मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नही. 

अखबार तो रोज़ आता है घर में, बस अपनों की ख़बर नहीं आती. 

अफ़सोस होता है उस पल जब अपनी पसंद कोई ओर चुरा लेता है.. ख्वाब हम देखते है.. और हक़ीक़त कोई और बना लेता है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *